e-TDS

e-TDS / General

TDS/TCS returns filed in electronic form as per section 200(3)/206C, as amended by Finance Act, 2005, are quarterly TDS/TCS statements.

As per the Income Tax Act, these quarterly statements are required to be furnished from FY 2005-06 onwards; however, as advised by Income Tax Department, acceptance of e-TDS/TCS statements pertaining to Financial Years prior to 2007-08 has been discontinued at TIN. The forms used for quarterly e-TDS statements Forms are 24Q, 26Q and 27Q and for quarterly e-TCS statement is Form No. 27EQ. These statements filed in CD/Pen Drive should be accompanied by a signed verification in Form No. 27A in case of both, e-TDS/TCS statements.

As per Income Tax Act, 1961, all corporate and government deductors/collectors are compulsorily required to file their TDS/TCS statements in electronic form i.e. e-TDS/TCS returns. However, deductors/collectors other than corporate/government can file either in physical or in electronic form.

All Drawing and Disbursing Officers of Central and State Governments come under the category of Government deductors.

An e-TDS statement should be filed under Section 206 of the Income Tax Act in accordance with the scheme dated August 26, 2003 for electronic filing of TDS statement notified by the Central Board of Direct Taxes (CBDT) for this purpose. CBDT Circular No. 8 dated September 19, 2003 may also be referred.

An e-TCS statement should be filed under Section 206C of the Income Tax Act in accordance with the scheme dated March 30, 2005 for electronic filing of TCS return notified by the CBDT for this purpose.

As per section 200(3)/206C, as amended by Finance Act 2005, deductors/collectors are required to file quarterly TDS/TCS statements from FY 2005-06 onwards.

CBDT has appointed the Director General of Income Tax (Systems) as e-Filing Administrator for the purpose of electronic filing of TDS/TCS statement.

CBDT has appointed NSDL e-Governance Infrastructure Limited, (NSDL e-Gov), Mumbai, as e-TDS/TCS Intermediary. NSDL e-Gov has established TIN Facilitation Centres (TIN-FCs) across the country to facilitate deductors/collectors file their e-TDS/TCS statement.

With effect from February 12, 2014, functionality of furnishing the foreign remittance details in Form 15CA and its related features have been discontinued from TIN and same are made available on the e-filing portal of Income Tax Department www.incometaxindiaefiling.gov.in

ई-टीडीएस/ सामान्य



वित्त अधिनियम, २००५ द्वारा संशोधित धारा २०० (३) / २०६ सी के अनुसार इलेक्ट्रॉनिक रूप में दर्ज किए गए टीडीएस / टीसीएस तिमाही के टीडीएस / टीसीएस विवरण हैं।

आयकर अधिनियम के अनुसार, इन तिमाही विवरणों को वित्त वर्ष २००५-०६ से प्रस्तुत किया जाना आवश्यक हैं; हालांकि, आयकर विभाग द्वारा यह सुझावा दिया गया है कि २००७-०८ से पहले के वित्तीय वर्षों से संबंधित ई-टीडीएस/टीसीएस स्टेटमेंट की स्वीकृति टिन पर बंद कर दी गयी है। त्रैमासिक ई-टीडीएस स्टेटमेंट फॉर्म के लिए उपयोग किए जाने वाले फॉर्म २४क्यू, २६क्यू और २७क्यू हैं और त्रैमासिक ई-टीसीएस स्टेटमेंट के लिए फॉर्म नंबर २७Eक्यू है। सीडी/पेन ड्राइव में दर्ज यह स्टेटमेंट ई-टीडीएस/टीसीएस स्टेटमेंट दोनों के मामले में फॉर्म नंबर २७ ए में हस्ताक्षर के साथ सत्यापित होना चाहिए।

आयकर अधिनियम, १९६१ के अनुसार, सभी कॉर्पोरेट और सरकारी कटौतीकर्ताओं / कलेक्टरों को अनिवार्य रूप से इलेक्ट्रॉनिक रूप यानी ई-टीडीएस / टीसीएस रिटर्न में अपने टीडीएस / टीसीएस विवरणों को दर्ज करना आवश्यक है। हालांकि, कोर्पोरेट / सरकार के अलावा अन्य कटौतीकर्ताओं/ कलेक्टर्स भौतिक या इलेक्ट्रॉनिक किसी भी रूप में दर्ज कर सकते हैं।

केंद्र और राज्य सरकारों के सभी आहरण और संवितरण अधिकारी सरकारी कटौतीकर्ताओं की श्रेणी में आते हैं।

इस प्रयोजन के लिए केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) द्वारा अधिसूचित टीडीएस विवरण के इलेक्ट्रॉनिक फाइलिंग के लिए २६ अगस्त, २००३ की योजना के अनुसार आयकर अधिनियम की धारा २०६ के तहत ई-टीडीएस विवरण दर्ज किया जाना चाहिए। सीबीडीटी परिपत्र संख्या ८ दिनांक १९ सितंबर, २००३ को भी देखा जा सकता है।

इस उद्देश्य के लिए सीबीडीटी द्वारा अधिसूचित टीसीएस रिटर्न की इलेक्ट्रॉनिक फाइलिंग के लिए ३० मार्च, २००५ की योजना के अनुसार आयकर अधिनियम की धारा २०६ सी के तहत ई-टीसीएस विवरण दर्ज किया जाना चाहिए।

वित्त अधिनियम २००५ द्वारा संशोधित धारा २०० (३) / २०६ सी के अनुसार, कटौतीकर्ताओं / कलेक्टरों को वित्त वर्ष २००५-०६ से तिमाही टीडीएस / टीसीएस विवरण दर्ज करना आवश्यक है।

सीबीडीटी ने टीडीएस / टीसीएस स्टेटमेंट के इलेक्ट्रॉनिक फाइलिंग के उद्देश्य से आयकर महानिदेशक (सिस्टम) को ई-फाइलिंग प्रशासक के रूप में नियुक्त किया है।

सीबीडीटी ने एनएसडीएल ई-गवर्नेंस इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड, (एनएसडीएल ई-गवर्नेंस), मुंबई को ई-टीडीएस/टीसीएस मध्यवर्ती नियुक्त किया है। एनएसडीएल ई-गवर्नेंस ने कटौतीकर्ताओं / संग्राहकों को उनके ई-टीडीएस / टीसीएस विवरण दर्ज करने के लिए देश भर में टिन सहायता केंद्र (टीआईएन-एफसी) स्थापित किए हैं।

१२ फरवरी, २०१४ से, फॉर्म १५सीए में विदेशी प्रेषण विवरण प्रस्तुत करने की कार्यक्षमता और इसके संबंधित सुविधाओं को टिन द्वारा बंद कर दिया गया है और आयकर विभाग के ई-फाइलिंग पोर्टल www.incometaxindiailing.gov.in पर उपलब्ध कराया गया है।