Form 24G

Form 24G / General

In the Government Accounting System, each DDO (Drawing & Disbursement Officer) is associated with a specific Accounts Officer (AO), who processes the bills prepared by the DDO. Form 24G is a single monthly statement where the AO will consolidate the payment details from each of the DDO, for each type of deduction/collection (TDS-Salary/ TDS-Non Salary/ TDS- Non Salary Non Residents/ TCS) in a single form known as Form 24G.

Every AO is required to file Form 24G every month for every type of deduction/ collection i.e. TDS-Salary / TDS Non-Salary / TDS-Non Salary Non-Residents / TCS in a single form.

Every Accounts Officer (AO) who processes the bills prepared by the DDO has to furnish the monthly Form 24G. In case of State Government the District Treasury Officer (DTO) will be responsible for filing Form 24G.

Accounts Office Identification Number (AIN) is a seven digit unique identification number issued by the Directorate of Income Tax (Systems), Delhi, to each Accounts Office. It is mandatory for an AO to have an AIN for submitting the Form 24G.

Application for AIN has to be made in the form ‘Application for allotment of Accounts Office Identification Number’ (AIN application form). Click here for detailed guidelines for procedure to obtain AIN.

On allotment of AIN, the same will be communicated vide e-mail/ letter will be sent to the PAO / CDDO / DTO at the email ID/ communication address mentioned in the AIN allotment form.

Yes, it is mandatory for every Accounts Officer to file Form 24G in electronic format only.

Any change in the details of DDOs associated to the AO are to be stated in Form 24G, which is to be prepared as per the prescribed data structure.

सरकारी लेखांकन प्रणाली में हरेक डीडीओ (आहरण एवं संवितरण अधिकारी) एक विशिष्ट लेखा अधिकारी (एओ) से जुड़ा होता है जो डीडीओ द्वारा तैयार किये गये बिलों को प्रोसेस करता है. फॉर्म २४जी एक एकल तिमाही विवरण है जिसमें लेखा अधिकारी हरेक प्रकार की कटौती / संग्रहण (टीडीएस - वेतन / टीडीएस गैर-वेतन / टीडीएस गैर-वेतन अनिवासी / टीसीएस ) के लिए, हरेक महीने के लिए डीडीओ से प्राप्त भुगतान विवरणों को समेकित करेगा.

डीडीओ द्वारा तैयार किये गये बिलों को प्रोसेस करने वाले प्रत्येक लेखा अधिकारी (एओ) को मासिक फॉर्म २४जी प्रस्तुत करना होता है. राज्य सरकार के मामले में जिला राजकोष अधिकारी (डीटीओ) फॉर्म २४जी फाइल करने के लिए उत्तरदायी होगा.

डीडीओ द्वारा तैयार किये गये बिलों को प्रोसेस करने वाले प्रत्येक लेखा अधिकारी (एओ) को मासिक फॉर्म २४जी प्रस्तुत करना होता है. राज्य सरकार के मामले में जिला राजकोष अधिकारी (डीटीओ) फॉर्म २४जी फाइल करने के लिए उत्तरदायी होगा.

लेखा कार्यालय पहचान संख्या (एआईएन) आयकर निदेशालय (प्रणाली), दिल्ली द्वारा प्रत्येक लेखा कार्यालय को जारी किया गया सात अंकों का एक विशिष्ट पहचान नंबर है. लेखा कार्यालय के लिए फॉर्म २४जी प्रस्तुत करने के लिए एआईएन (AIN) रखना अनिवार्य है.

एआईएन (AIN) के लिए आवेदन `लेखा कार्यालय पहचान संख्या के आबंटन हेतु आवेदन` फॉर्म (एआईएन आवेदन फॉर्म) में किया जाना चाहिए. एआईएन प्राप्त करने हेतु विस्तृत दिशानिर्देश के लिए यहां क्लिक करें.

जी,हां. प्रत्येक लेखा अधिकारी के लिए केवल इलेक्ट्रॉनिक रूप में फॉर्म २४जी फाइल करना अनिवार्य है.

लेखा अधिकारी से सम्बद्ध डीडीओ के विवरण में कोई परिवर्तन फॉर्म २४जी में उल्लिखित किया जाना चाहिए जिसे निर्धारित डाटा संरचना के अनुसार तैयार किया जाना चाहिए.

फॉर्म २४जी फाइल करने के लिए नियत दिनांक अगले महीने की 15 तारीख है.